×
वीडियो खेती की बात स्वास्थ्य बिज़नेस शिक्षा पॉजिटिव ब्रेकिंग खेल अनसुनी गाथा एडिटोरियल
EN

स्वास्थ्य

अमेरिका ने खोजी हीमोफीलिया की दवा, दुनिया में 15 फीसदी लोग हैं इससे बीमार

by Rishita Diwan

Read Time: 1 minute



अमेरिका के फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (FDA) ने हीमोफीलिया की दवा को मंजूरी दे दी है। जिसे दुनिया की सबसे महंगी दवा भी कही जा रही है। Hemgenix नाम की इस दवा से हीमोफीलिया बी का इलाज होगा जिससे पूरी दुनिया में लगभग 15 फीसदी लोग पीड़ित हैं। बता दें इस एक डोज की कीमत 3.5 मिलियन डॉलर यानी 28 करोड़ 58 लाख रुपए रखी गई है।

हीमोफीलिया के बारे में

हीमोफीलिया एक जेनेटिक (आनुवंशिक) बीमारी का प्रकार है। हीमोफीलिया बी काफी दुर्लभ टाइप है। इसमें व्यक्ति के खून में एक प्रोटीन की कमी होती है, जो खून को जमा देता है। इस प्रोटीन को 'क्लॉटिंग फैक्टर' भी कहते हैं। इस बीमारी से पीड़ित लोगों को अगर छोटी सी भी चोट लग जाती है तो उनके जख्म पर खून के थक्के नहीं जमते हैं और खून लगातार बहता रहता है। ज्यादा खून बहने से व्यक्ति की जान को भी खतरा रहता है।


एक खुराक से मिलेगी राहत

FDA के अनुसार Hemgenix ड्रग हीमोफीलिया बी के मरीजों के लिए काफी कारगर साबित होने वाली है। भले ही यह दवा महंगी है, लेकिन इसकी एक खुराक की लागत पूरी उम्र चलने वाले इलाज से काफी कम है। एक्सपर्ट्स की मानें तो अमेरिका में एक मरीज हीमोफीलिया के इलाज पर 21 से 23 मिलियन डॉलर (171 से 181 करोड़ रुपए) तक वहन करता है।

फिलहाल FDA की तरफ से यह जानकारी मिली है कि दवा के कितने डोज इस बीमारी से बचा सकती है। जिसके मुताबिक इस दवा के एक डोज को लेने से कई साल तक ब्लीडिंग कम होगी और खून के थक्के बनने लगेंगें।

Also Read: 5 Foods That Boost Good Cholesterol Levels

आपको यह भी पसंद आ सकता है


Comments


No Comments to show, be the first one to comment!


Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *